मनमनाभव काअर्थ (ManManaBhav)

* मुरली के मनमनाभव शब्द का यथार्थ अर्थ * मनमनाभव होना ही सबसे बड़ा मनोरंजन है क्योंकि सर्व सम्बन्धो का रस वा अनुभूतियां करना ही मनमनाभव है। सिर्फ बाप ,टीचर ,सतगुरु के रूप में नही बल्कि सर्व सम्बन्धो के स्नेह का अनुभव कर सकते हो लेकिन फर्क क्यों पड़ जाता है?एक है दिमाग से नॉलेज... Continue Reading →

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑